Saturday, April 20th, 2024

खुशखबरी : अब एक ही इंश्योरेंस पॉलिसी में लोगों को सारे बीमा कवर मिल जाएंगे

नई दिल्ली
 भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (IRDAI) ने एक ही जगह पर एक ही जगह पर ऑनलाइन सभी इंश्योरेंस पॉलिसियों को मुहैया कराने की तैयारी कर ली है। इंश्योरेंस रेगुलेटर भारतीय बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण (आईआरडीएआई) ने इलेक्ट्रॉनिक मार्केटप्लेस 'बीमा सुगम' या डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर एक एक्सपोजर ड्राफ्ट जारी कर दिया है। इसे एक वन-स्टॉप सॉल्यूशन या प्रोटोकॉल के रूप में माना जा सकता है जिस पर इंश्योरेंस पॉलिसी की खरीद, बिक्री, सर्विसिंग और क्लेम सेटलमेंट से लेकर शिकायतों तक का निपटारा किया जा सकता है। इसके जल्द लॉन्च होने की उम्मीद बढ़ गई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह इस साल जून में लॉन्च हो सकती है। इससे पहले बीमा नियामक ने इसे जनवरी 2023 में लॉन्च करने का प्लान बनाया था। मौजूदा समय में लोगों को हेल्थ, लाइफ, प्रॉपर्टी और एक्सीडेंट रिस्क को कवर करने के लिए अलग-अलग इंश्योरेंस पॉलिसी (Insurance Policy) लेनी पड़ती है। मगर इंश्योरेंस सेक्टर का रेगुलेटर इरडा एक ऐसी सिंगल पॉलिसी लाने पर काम कर रहा है, जो हेल्थ, लाइफ और प्रॉपर्टी के इंश्योरेंस को कवर करेगी।


बीमा सुगम क्या है

बीमा सुगह एक इलेक्ट्रॉनिक इंश्योरेंस मार्केटप्लेस है। बीमा कंपनियां, पॉलिसीहोल्डर्स और इंटरमीडियरी इस प्लेटफार्म का इस्तेमाल कर सकेंगे। एक ही जगह पर इंश्योरेंस इंडस्ट्री के सभी पक्षों की मौजूदगी से सभी को फायदा होगा। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, बीमा सुगम से आने वाले दिनों में इंश्योरेंस इंडस्ट्री में क्रांतिकारी बदलाव आएंगे। पेमेंट के मामले में जिस तरह से यूपीआई में बदलाव आया है, उसी तरह से बीमा सुगम से इंश्योरेंस सेक्टर में बदलाव आएगा। इससे बीमा कंपनियों की लागत घटेगी और प्रोडक्ट्स सस्ते होने की उम्मीद है। इस ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लाइफ इंश्योरेंस, हेल्थ इंश्योरेंस और जनरल इंश्योरेंस सहित हर तरह के बीमा उत्पाद उपलब्ध होंगे।

ये है तैयारी

इरडा की योजना है कि आम लोगों को अलग-अलग सेक्टर की इंश्योरेंस पॉलिसी के लिए भटकना ना पड़े। एक ही बार में एक ही कंपनी के पास जाकर वह एक ऐसी पॉलिसी लें, जिनमें हेल्थ, लाइफ और प्रॉपर्टी समेत सभी सेक्टर के रिस्क कवर हो जाए। एक ही जगह पॉलिसीधारक को प्रीमियम देना पड़े। पॉलिसी के क्लेम का जल्द निपटान हो, इसके लिए पर्याप्त प्रावधान किए जाएंगे। बीमा सुगम डिजिटल प्लैटफॉर्म से डिजिटल डेथ रजिस्ट्री को जोड़ा जाएगा। अगर किसी पॉलिसी धारक की मौत हो जाती है तो इसकी सूचना इस प्लैटफॉर्म पर मिल जाएगी। इससे दावों का निपटान करने में आसानी होगी।

Source : Agency

आपकी राय

2 + 5 =

पाठको की राय